UPSC Result 2023: अब ओलंपिक ही नहीं, यूपीएससी में भी हरियाणा के छोरे-छोरियों का कमाल, इस बार 22 ने मारी बाजी

[ad_1]

UPSC Success Story- संघ लोक सेवा आयोग ने भारत की सबसे कठिन यूपीएससी परीक्षा का 23 मई को रिजल्ट जारी किया था. इस बार ग्रेटर नोएडा की इशिता किशोर ने टॉप किया है. वहीं, इस बार यूपीएससी परीक्षा में हरियाणा के युवाओं ने लठ गाड़ दिया है. इन युवाओं में कोई पहले ही अधिकारी है, तो किसी ने अपने अंतिम प्रयास में सफलता प्राप्त की है. बता दें कि हरियाणा छोरे-छोरियों को ओलंपकि समेत तमाम खेलों में मेडल लाने के लिए जाना जाता है.

हरियाणा के कैथल की रहने वाली कनिका गोयल ने यूपीएससी परीक्षा में 9वीं रैंक हासिल की है. वहीं, हरियाणा के रहने वाले और साउथ दिल्ली में बतौर एसडीएम कार्यरत अभिनव सिवाच ने इस बार 12वीं रैंक हासिल कर प्रदेश का नाम रोशन किया है. आइए जानें हरियाणा के इन युवाओं के बारे में…

कनिका गोयल: 9वीं रैंक
यूपीएससी परीक्षा में कैथल की कनिका गोयल ने 9वीं रैंक हासिल की. वहीं, प्रदेश में वह पहले स्थान पर रही हैं. कनिका अपने माता-पिता की अकेली बेटी हैं. उन्होंने परीक्षा के लिए ऑनलाइन कोचिंग के द्वारा ही तैयारी की थी. जबकि कनिका का 7वीं क्लास से ही IAS बनने का सपना था. उनकी 10 साल की कड़ी मेहनत अब रंग लाई है.

अभिनव सिवाच: 16वीं रैंक
वहीं, साल 2020 में 16वीं रैंक पाकर आईएएस बने अभिनव सिवाच ने इस बार 12वीं रैंक हासिल की है. अभिनव ने 2020 में यूपीएससी के ‘दानिक्स केडर से पेपर दिया था और 16वां स्थान हासिल किया था. अपने कैडर से संतुष्ट न होने पर उन्होंने एक साल के अंतराल के बाद एक बार फिर यूपीएससी परीक्षा दी और इस बार उन्होंने अपने और अपने परिवार का सपना साकार करते हुए देशभर में 12वीं रैंक हासिल की है.

तुषार कुमार- 44वीं रैंक
यूपीएससी में इस बार हरियाणा के रेवाड़ी जिले के ही 5 युवाओं ने परीक्षा में सफलता प्राप्त की है. रेवाड़ी के तुषार कुमार ने यूपीएससी की परीक्षा में 44वीं रैंक हासिल की है. घर की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं थी, लेकिन वह भी तुषार के हौसले को तोड़ नहीं पाई. पिता की मौत के बाद भी हार नहीं मानी.

प्रियांशु: 65वीं रैंक
यूपीएससी की परीक्षा में गुरुग्राम के प्रियांशु ने भी 65वीं रैंक हासिल की है. गुरुग्राम के सेक्टर-15 में रहने वाले प्रियांशु का ये आखिरी अटेंप्ट था. इससे पहले वो 5 बार यूपीएससी की परीक्षा में बैठ चुके थे. हालांकिव वो साल 2018 से रेलवे में जॉब कर रहे थे. उनकी पोस्टिंग अहमदाबाद में थी. वह नौकरी के साथ-साथ परीक्षा की तैयारी करते रहे और उन्‍होंने अपने अंतिम प्रयास में सफलता हासिल की है.

मुस्कान डागर: 72वीं रैंक
मुस्कान डागर ने अपनी छोटी सी उम्र में बड़े से सपनों को साकार कर दिखाया है. यूपीएससी परीक्षा में 72वीं रैंक हासिल करके न सिर्फ अपना बल्कि अपने पूरे गांव का नाम रोशन किया है. मुस्कान ने 2021 में संघ लोक सेवा आयोग में 474वीं रैंक हासिल की थी. जबकि 2022 में एक बार फिर इस परीक्षा को देकर उन्होंने अपनी रैंक में सुधार करते हुए 72वीं रैंक हासिल की है.

सुनील फोगाट: 77वीं रैंक
चरखी दादरी जिले के गांव झिझंर के बेटे सुनील फोगट ने 7 लाख रुपये के पैकेज की नौकरी नहीं की. हालांकि लेफ्टिनेंट व असिस्टेंट कमांडर के पद पर चयन हुआ तो भी नौकरी नहीं की. इसका कारण था आईएएस बनने का सपना. इस सपने को पूरा करने के लिए एंड्राइड फोन छोड़ दिया. ना कोई कोचिंग ली और अब तीसरी बार में यूपीएससी की परीक्षा में 77वीं रैंक के साथ कामयाबी हासिल की है.

निधि कौशिक: 88वीं रैंक
यूपीएससी की परीक्षा में मुरथल की निधि ने 88वीं रैंक हासिल कर परिवार का नाम चमकाया है. उनको पहली बार में 289 रैंक मिली थी, लेकिन निधि ने तभी ठान लिया कि एक बार फिर से किस्मत को आजमाना है और अपने सपने को पूरा करना है. निधि चंडीगढ़ अकेडमी अकाउंट्स एंड ऑडिट विभाग में डीजीएम के पद पर तैनात हैं और उसकी ट्रेनिंग चल रही है.

मनस्वी शर्मा: 101वीं रैंक
करनाल के मनस्वी शर्मा ने इस बार यूपीएससी की परीक्षा में 101वां स्थान प्राप्त किया है. इसके बाद उनके परिवार में खुशी का माहौल है. वे पांच बार यूपीएससी की परीक्षा दे चुके हैं. मनस्वी इससे पहले तीन बार सफल हो चुके हैं, लेकिन रैंक ज्यादा होने के चलते उन्होंने कहीं भी ज्वाइन नहीं किया था.

महिमा कसाना – 141वीं रैंक
फरीदाबाद की रहने वाली महिमा कसाना ने यूपीएससी की परीक्षा में 141वीं रैंक पाकर फतेह हासिल कर ली है. महिमा ने न सिर्फ जिले का नाम रोशन किया है बल्कि पूरे प्रदेश में अपने नाम डंका बजा दिया है.

इन्‍होंने भी मारी बाजी
इसके अलावा भी हरियाणा के युवाओं ने यूपीएससी में सफलता हासिल की है. इस लिस्‍ट में जींद की अंकिता पवार ने 28वीं रैंक, रेवाड़ी के नितीश मौर्य ने 90वीं रैंक, कैथल की दिव्यांशी सिंगला ने 95वीं, जींद के अंकित नैन ने 99वीं, नारनौल की दिव्या ने 105वीं और झज्जर की साक्षी जांगड़ा ने 200वीं रैंक हासिल की है. वहीं, कुरुक्षेत्र के हरदीप ने 227वीं, हिसार के भावेश ने 280वीं, कैथल के मनीष शर्मा ने 283वीं, कैथल की संध्या ने 316वीं, नारनौल की अभिरुचि ने 317वीं, रेवाड़ी के योगेश ने 323वीं, रोहतक के राहुल बल्हारा ने 494वीं, भिवानी के राहुल ने 508वीं, रेवाड़ी की आरती ने 592 वीं और दादरी के सूरज ने 725वीं रैंक के साथ हरियाणा का नाम रोशन किया है.

Tags: Haryana news, UPSC, Upsc exam result, Upsc topper

[ad_2]

Source link