बीआर चोपड़ा की ‘महाभारत’ में कौन था शिखंडी, जिसका ‘शकुनि’ से है खास रिश्ता, दोस्त की वजह से मिला था किरदार

[ad_1]

नई दिल्ली. भारत के छोटे पर्दे के इतिहास में कुछ ऐसे सीरियल रहे हैं, जिन्हें दर्शक शायद ही कभी भूल पाएंगे. ‘रामायण’ और ‘महाभारत’ ये दो ऐसे सीरियल्स में से एक हैं, जो लोगों के दिलों-दिमाग पर बसते हैं. लॉकडाउन के दौरान जैसे ही ‘रामायण’ और ‘महाभारत’ का प्रसारण शुरू हुआ, दूरदर्शन की टीआरपी आसमान छूने लगी, इससे साबित होता है कि आज भी लोगों के बीच रामायण और महाभारत का क्रेज उतना ही है, जितना सालों पहले था. आपको याद होगा कि ‘महाभारत’ जैसे भव्य धारावाहिक को छोटे पर्दे पर उतारने वाले निर्माता बीआर चोपड़ा थे. ‘मैं समय हूं’ से शुरू होने वाला ‘महाभारत’ का हर एपिसोड बेमिसाल था. इस सीरियल का हर एक कलाकार भी बेजोड़ था.

‘महाभारत’ में ‘शिखंडी’ का किरदार एक ऐसा किरदार था, जिसके बारे में लोग बहुत कम जानते थे, लेकिन जब लोगों ने इस कलाकार की एक्टिंग देखी तो उसे खूब सराहा. आप शायद ये नहीं जानते होंगे कि ‘महाभारत’ में ‘शिखंडी’ का किरदार निभाने वाले कलाकार को यह रोल सीरियल में ही काम करने वाले उनके एक दोस्त की वजह से मिला था और उसके बाद यह कलाकार अपने किरदार में कुछ इस तरह घुसा कि लोग उसे वास्तविक ‘शिखंडी’ मानने लगे. चलिए हम आपको बताते हैं कि शिखंडी का किरदार किसने निभाया था और इस कलाकार को यह रोल कैसे मिला.

भीष्म पितामह की मौत की वजह बना था शिखंडी
महाभारत में शिखंडी के किरदार के बारे में लोगों ने सुना तो था, लेकिन उसके वास्तविक रूप को समझना उनके लिए बेहद कठिन था. सभी को ये तो पता था कि शिखंडी भीष्म पितामह की मौत का कारण बने थे, लेकिन इसे पर्दे पर उतारना उतना ही कठिन था. इस कठिनाई को आसान कर दिखाया, बीआर चोपड़ा ने. उन्होंने ‘महाभारत’ में सीरियल में ‘शिखंडी’ के कैरेक्टर को इतने बेहतरीन अंदाज में पेश किया कि लोगों को समझ आने लगा कि ‘महाभारत’ के समय शिखंडी कैसे भीष्म पितामह की मौत की वजह बने.

दोस्त की वजह से मिला ‘शिखंडी’ का किरदार
बीआर चोपड़ा की ‘महाभारत’ में शिखंडी का किरदार में प्रतिभावान एक्टर और कॉमेडियन कंवरजीत पेंटल ने निभाया था. ‘महाभारत’ के शिखंडी यानी का शो में नजर आए ‘शकुनि मामा’ से बेहद करीबी रिश्ता है. वैसे कंवरजीत शिखंडी के रोल के लिए आए नहीं थे, लेकिन जिस रोल के लिए आए थे, वो किरदार इतना गंभीर नहीं दिखा, जिसकी उन्हें तलाश थी. इसके बाद एक खास दोस्त की वजह से उन्हें महाभारत में ये किरदार मिला और वो शिखंडी के किरदार को अमर कर गए.

Kanwarjit Paintal, Shikhandi aka Kanwarjit Paintal, BR Chopra, Mahabharat, BR Chopra Mahabharat, Who was Shikhandi in BR Chopra Mahabharat, how Kanwarjit Paintal get role of Shikhandi, who is Shikhandi in Mahabharat, Sarabjeet Gufi Paintal and Kanwarjit Paintal, relationship between Sarabjeet Gufi Paintal and Kanwarjit Paintal, Paintal Brothers in Mahabharat, Shakuni aka Sarabjeet Gufi Paintal, Ravi Chopra, Ravi Chopra and Kanwarjit Paintal Friendship, Kanwarjit Paintal age, Kanwarjit Paintal Films, Kanwarjit Paintal TV Shows

महाभारत के ‘शिखंडी’ यानी कंवरजीत पेंटल का जन्म 22 अगस्त साल 1948 को सिख परिवार में हुआ था.

‘शकुनि मामा’ से क्या है ‘शिखंडी’ का रिश्ता
एक्टर और कॉमेडियन कंवरजीत पेंटल के भाई गुफी पेंटल का महाभारत में अहम रोल रहा. उन्होंने न सिर्फ किरदार के हिसाब से कलाकारों का चयन किया, बल्कि शो में ‘शकुनि मामा’ के किरदार को भी बहुत खूबसूरती से निभाया. कंवरजीत पेंटल और गुफी पेंटल दोनों भाई हैं और टीवी और फिल्मों का एक जाना माना नाम हैं.

कैसे मिला ‘शिखंडी’ का किरदार
निर्माता-निर्देशक बी आर चोपड़ा के बेटे रवि चोपड़ा के साथ कंवरजीत पेंटल की अच्छी दोस्ती थी. रवि ने कंवरजीत को सुदामा का किरदार निभाने के लिए कास्ट किया. लेकिन जब देखा गया कि सुदामा का किरदार उतना प्रभावी नहीं है, तो ‘महाभारत’ में ही पेंटल को शिखंडी के किरदार के लिए कास्ट किया गया
शिखंडी का किरदार निभाकर पेंटल भारतीय जनमानस की स्मृति में अंकित हो गए.

कंवरजीत पेंटल और रवि चोपड़ा रहे अच्छे दोस्त
कंवरजीत पेंटल और रवि चोपड़ा अच्छे दोस्त रहे. मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो पेंटल की मां को कैंसर हुआ तो उन्होंने रवि चोपड़ा से 5 हजार रुपए की सहायता मांगी. रवि चोपड़ा ने तुरंत मदद के लिए हाथ बढ़ाए और उन्होंने पेंटल को 5 की जगह 10 हजार की सहयोग राशि दी. पेंटल और रवि चोपड़ा आजीवन अच्छे मित्र रहे.

Tags: B R Chopra, Mahabharat, Mahabharata

[ad_2]

Source link